Sale!

Vastu Darpan – वास्तु दर्पण

170.00 120.00

Writer and Publisher – Dr. Teena Jain

 

भारतीय ज्योतिष की अधिकतर चीजों को विज्ञान अंधविश्वास करार देता है लेकिन ज्योतिष की एक अहम शाखा “वास्तु शास्त्र और ज्ञान” को विज्ञान ने भी प्रमाणित किया है। वास्तु शास्त्र भवन निर्माण का विज्ञान है।
वास्तु शास्त्र क्या है – “वास्तु” शब्द का शाब्दिक अर्थ विद्यमान यानि निवास करना होता है। निवास करने वाली जगह को बनाने और संवारने के विज्ञान को ही वास्तु शास्त्र) कहा गया है। वास्तु शास्त्र के सिद्धांत आठों दिशाओं तथा पंच महाभूतों आकाश, भू, वायु, जल, अग्नि आदि के प्रवाह आदि को ध्यान में रखने बनाए गए हैं। इन सबके मेल से एक ऐसी प्रकिया खड़ी की जाती है जो मनुष्य के रहने के स्थान को सुखमय बनाने का कार्य करती है।
क्या है वास्तु दोष  – साधारण भाषा में समझा जाए तो जब मनुष्य के रहने के स्थान पर किसी तत्व में कोई कमी आती है तो उसका जीवन कष्टकारी हो जाता है। वास्तु शास्त्र यह सुनिश्चित करता है कि भवन के आसपास का माहौल पंच-तत्वों और आठों दिशाओं के अनुकूल हो।

SKU: JY587 Categories: ,

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Vastu Darpan – वास्तु दर्पण”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X